Critical Hindi Means with All Explaination - क्रिटिकल हिन्दी मे जानिए।

Hey friends आज के इस subject में हम बात करेंगे critical के हिंदी मीनिंग की तथा साथ ही जानेंगे कि इसका प्रभाव क्या पड़ता है और यह कैसे हमारे जीवन मे महत्व रखता है और यह कब यूज होता है तथा कहा इसे यूज करना अधिक लाभदायी होता है और इसे कैसे यूज करना चाहिए यह सब हम आज के इस टॉपिक में समझेंगे और जानेंगे कि यह किस तरह उपायोगी है इसके लिए आपको इस आर्टिकल को पूरा आखिर तक पढ़ना पड़ेगा और समझना पढ़ेगा तो आइए दोस्तो शुरू करते है.

Critical Hindi Means with All Explaination :


Critical means in hindi :

  • महत्वपूर्ण
  • नाजुक
  • संकटमय

दोस्तो अब हम यहाँ जानेंगे कि critical की रियल मीनिंग क्या होती है दोस्तों कुछ लोग इसका छोटा तथा संक्षेप अर्थ जानकर ही खुश हो जाते है और बिना गहराई तक गए हुए ही इसका यूज करते रहते हैं जो कि इस पर सटीक नहीं होता है और न ही यह बात लोगो को अच्छे से समझ तहिआ पाती हमे हर शब्द को अच्छे से समझकर और गहराई में जाकर ही उसका यूज करना चाहिये दोस्तो critical को हम तीन तरह से defined कर सकते है महत्वपूर्ण, संकटमय, जी हां दोस्तो यह इसके सबसे सही तथा सबसे प्रभावशाली अर्थ है. 

जिनका प्रयोग सबसे ज्यादा होता है और इस प्रकार से ही हम इनका यूज करना सीखेंगे  और समझेंगे की इसका यूज हमे कब कहां और कैसे  करना है इसके लिये आपको इस आर्टिकल को पूरा आखिर तक पढ़ना पड़ेगा यहां हमने इसके तीन सबसे प्रभावशाली अर्थो को जाना है और अब हम इन अर्थो को विस्तार से समझेंगे तथा उनकी गहराई पर जाएंगे  दोस्तो मुझे पूरा विश्वास है कि आपको यहां critical शब्द की पूरी गहराई के साथ ज्ञान मिलेगा.



What is the Details of Critical : 


सभी अर्थो को विस्तार से जानना :

दोस्तो अब हम यहां सभी अर्थो को विस्तार से जानेंगे और समझेंगे तथा सिर्फ इसका संक्षेप में अर्थ न जानकर बल्कि उसकी पूरी गहराई में जाकर उसका ज्ञान अर्जित करेंगे तो दोस्तो हमें तीनों अर्थो को एक एक कर के समझना पड़ेगा.

1. महत्वपूर्ण, दोस्तो यह शब्द आपने हजारो बार सुना होगा लेकिन आप इसका संक्षेप में अर्थ जानकर ही खुश हो गए होंगे जबकी यह शब्द अपने आप मे बहुत गहरा है और काफी जरूरी भी जिसका नाम ही महत्वपूर्ण हो वह कितना महत्व रखता होगा दोस्तो यह शब्द तब अधिक प्रयोग होता है जहाँ किसी विशेष चीज़ की जरूरत की बात होती है जहां वह चीज़ सीधा उस चीज से जुड़ी हुई होती.

वहाँ वह अलग से और अधिक रुचि से प्रयोग की जाती है दोस्तों थोड़ा गहराई से इसको समझने की कोशिश करें हम चीजो को गहराई से नही समझते इसलिये हमे शब्दो को प्रयोग करने में कोई परेशानी आती है और हम शब्दो को प्रयोग करते वक़्त बौखला जाते है और स्थिति को समझ नही पाते है 

यह शब्द हम उस चीज के लिए भी करते है जिस चीज के बिना वह काम सम्भव नही होता वहां भी हम इस शब्द को अच्छे से प्रयोग कर सकते है तो अब आप कहीं भी महत्वपूर्ण शब्द की जगह इस critical शब्द को इस्तेमाल कर सकते है जो कि बहुत प्रभावी होता है.

आप अगली बार इस शब्द को जब भी इस्तेमाल करें तो यह बात जरुर याद रखें की जब बहुत ही जरूरी हो कोई काम के लिए कोई वस्तु तभी इस critical शब्द का प्रयोग करे अनयथा आप important शब्द का  भी प्रयोग कर सकते है और अब आप अगली बार जब भी critical शब्द का प्रयोग महत्वपूर्ण के लिए करेंगे 

तो इन सारी बातों को ध्यान में रखकर ही इनका प्रयोग करे जिससे आप कही भी एक अच्छी इमेज बनाने में सफल हो सकते है और एक अच्छे व्यक्तकर्ता बन सकते है इसके प्रभाव हम आगे पढ़ेंगे जिसके लिए आपको इस आर्टिकल को आखिर तक पढ़ना पड़ेगा और बारीकी से समझना पड़ेगा ।

2. संकटमय, दोस्तो यह critical शब्द का दूसरा सबसे अच्छा और प्रभावशाली शब्द है इस शब्द का प्रयोग आपको न करना पड़े आप यही सोचते है कि क्योंकि संकट अच्छी चीज नही होती है यह बुरे समय मे आता है और जैसा हम सोचते है उसके बिल्कुल विपरीत होता है तथा यह कभी भी आ सकता है इस शब्द का प्रयोग हम वहाँ करते है तथा इस शब्द को ऐसी ही जगह प्रयोग किया जाना चाहिए जहां कोई आपातकाल परिस्थिति हो यह चीज़े हमे थोड़ा परेशान जरूर करती है लेकिन हम वह परिस्थिति को कैसे फेस करते है. 

यह important होता है तो crtical के इस शब्द का प्रयोग तभी करना है जब हम किसी संकट की परिस्थिति को देख रहे हो अपने आसपास ऐसे घटना को देखने पर अगर आपको लगता है की यह शब्द वहां अछ्छे से सटीक बैठ रहा है. 

मगर ध्यानपूर्वक इस शब्द को प्रयोग कर लेना चाहिए मुझे लगता है आप समझ गए है कि इन दोनों अर्थो को कब कहाँ और कैसे प्रयोग करना चाहिए अब  हम इसके प्रभावो को समझेंगे तथा इसका महत्व भी आगे जानेंगे तथा इसके अलावा भी और कुछ इसके महत्व भी जानेंगे.

3. नाजुक, दोस्तो यह crtical का तीसरा सबसे अच्छा और सबसे प्रभवशाली शब्द है जो कि बहुत ही मजेदार है इस शब्द का प्रयोग हम तब करते है जब कोई कार्य की सबसे परिवर्तनीय परिस्थिति हो और हम उसे इस शब्द से defined कर सकते है तथा यह शब्द को प्रयोग करने पर हमारे चेहरे पर एक अलग सी प्रतिक्रिया होती है.

हम जब कोई ऐसी परिस्थिति देखते है तो हमे यह शब्द का प्रयोग करना चाहिए इस शब्द को प्रयोग करते समय इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि यह शब्द वहां पर सटीक बैठ रहा है कि नही तथा इसके बाद ही इस शब्द का प्रयोग करना चाहिए और इसे बोलना चाहिए जिससे आप एक अच्छी छवि बनाने में सफल हो सके इसलिये इस शब्द को अब आप जब भी इस्तेमाल करे तो इन बातों का ध्यान रखना चाहिए इसके प्रभाव हम आगे पढ़ेंगे.
   
दोस्तो अगर आपने इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ा होगा तथा समझा होगा तो आपको इस critical शब्द का पूरी तरह से मतलब समझ मे आ गया होगा तथा इसके सारे अर्थो को भी आपने अच्छे से समझ लिया होगा अब हम critical शब्द के सारे प्रभावो को ध्यान से समझेंगे.

इसके प्रभावो को जानना :

दोस्तो इस शब्द के बहुत प्रभाव हमारे जीवन मे पड़ता है तथा यह एक intresting शब्द है जब हम कोई काम कर रहे होते है तो उसमे भी कोई ऐसा critical टाइम आता है जहां से वह काम अलग मोड़ लेता है उस मोड़ को critical(महत्वपूर्ण) turn बोल सकते है तथा इसके अलावा जब हम किसी मुसीबत में होते है उस टाइम को हम critical (संकटमय)  टाइम भी कह सकते.

जब हम किसी काम को करते वक़्त उसकी सबसे परिवर्तनीय स्थिति में होते है उस समय हम उसे critical (नाजुक) moment भी कह सकते है  हमे हमेशा महत्वपूर्ण काम  पहले करना चाहिए तथा संकटमय समय मे ठहर कर तथा दिमाग से काम लेना चाहिये और नाजुक स्तिथि में हमेशा सही फैसले लेने चाहिए.

दोड़तो मुझे पूरा यकीन है कि आपको यह आर्टिकल पूरा समझ मे आ गया होगा तथा आपने यह सारे अर्थो को अच्छे से समझ लिया होगा और अब आप जब भी इस शब्दों का प्रयोग करेंगे तो इन बातों का ध्यान जरूर रख कर करेंगे जिससे कि आपकी शब्दावली अच्छी होगी और आपके व्यक्तित्व में भी निखार आएगा.

Post a Comment

0 Comments