What is Meal Means in Hindi and All Definition - मील को हिन्दी मे पूरा जाने

दोस्तो आज हम जानेगे शब्दकोश के एक बेहतरीन आर्टिक्ल के बारे मे जिसके अंतर्गत मील शब्द के प्रत्येक अर्थ को पूर्ण विस्तार के साथ उपयोग तथा प्रभावों को अच्छी तरह समझाएँगे। उपयोग तथा प्रभाव के भिन्न मतलवों को आस - पास के समाज से जोड़कर आपको इनके शॉर्ट ऑर विस्तार अर्थो को अच्छी तरह बताएँगे। आपको सभी बातो को समझने के लिए इस पोस्ट को पूरा अंत तक पढ़ना होगा। चलिये अब आंतरिक ऑर बाहरी बातो को इनसे जोड़कर समझते है। अब शुरू करते है। 

What is Meal Means in Hindi and All Definition :


Meal Means in Hindi :

भोजन, 
आटा, 
दूध,

मेरे खयाल से अब तक आपके द्वारा ऊपर से सभी छोटे मीनिंग को रीड करके कई जगहो पर जरूरत के अनुसार यूज कर लिया गया है। ये आपके लिए बहुत फायदेमंद रहा होगा। लेकिन कुछ स्थानो पर उपयोग के समय इन्हे याद करने मे समर्थ नही हो पाये होंगे। ये सब को स्मरण करके ही यह पूरा पोस्ट आपके लिए लिखा जो सम्पूर्ण बातो के सभी पहलुओ को अच्छी तरह सामने रखेंगे। चलिये अब आगे पढ़ते है। 


Means of Meal in Hindi Definition :


प्रत्येक मतलव के भिन्न अर्थो को अच्छे से जाने - 

- भोजन, दोस्तो आप सभी इस बात से बाखिफ होंगे कि भोजन हमारी लाइफ मे कितना महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है साथ ही जीवन को लगातार बनाए रखने के लिए भी इसकी जरूरत होती है। इंसान की सबसे छोटी जरूरत मे रोटी, कपड़ा, मकान होते है लेकिन आज इनके अलावा हर किसी को अच्छी लाइफ चाहिए होती है। 

इन कारणो से वह लगातार आगे बड़ते हुये अपनी जिंदगी ऑर काम करने के तरीके बदलते हुये आगे बड़ते रहते है ऑर दिन - प्रतिदिन प्रगति करने की कोशिश मे लगे रहते है। आखिर इंसान होने के साथ बुद्धिमानी के चलते लगातार बेहतर करना उसकी पहचान होता है।

- आटा, जब आटे की बात आती है तो हमारा दिमाग सीधे गेहूं की ओर जाता है क्योकि आटा इसी गेहूं को पीसकर बनाया जाता है। देखा जाये तो यह सबसे अधिक महत्व रखता है। हमारा देश एक खेती प्रधान देश होने के कारण यहाँ अनेकों तरह के फसल ऊंगाई जाती है। गेहूं सबसे ज्यादा उत्पादन होने बाले देश मे भारत शामिल है जो पूरी दुनिया मे निर्यात करता है। 

गेहूं के आटे से हम रोटी बनाकर खाते है जिससे हमारा जीवन संचालित होता है। भारत देश मे अनेक फसल भिन्न स्थानो अलग - अलग ऊंगाई जाती है लेकिन ज़्यादातर गेहूं का उत्पादन शामिल है। 

- दूध, दोस्तो जिस तरह गेहूं जीवन को बनाए रखने हेतु जरूरी है वैसे ही दूध भी कुछ कम भूमिका नही निभाता है। भारत ऑर पूरी दुनिया मे प्राक्रतिक रूप से पीने योग्य दूध गाय ऑर भैस का ही होता है जिससे हम भिन्न तरह के उपयोग मे लेते है। इसे बनाने की क्रिया इन जानवरो के अंदर इनके द्वारा जो भी खाया जाता है उसकी कुछ मात्रा दूध के रूप मे इनके शरीर के अंदर एकत्रित होता रहता है जिसे हमारे द्वारा सुबह ऑर शाम को निकाल लिया जाता है। 

सभी शब्द के प्रभाव को जाने -

- भोजन, जैसा कि हमने ऊपर बताया कि हमे जिंदा रहने हेतु भोजन की आवश्यकता होती है आज - कल भोजन को भिन्न तरह से बनाकर इनके स्वाद को पूरी तरह बदल दिया गया है सभी अपने स्वाद के चलते भिन्न भोजन को खाते है। 

जैसा कि आप सभी जानते है कि आज अनेकों तरह के रसायन फसलों के उत्पादन मे किया जाता है जिससे यह परिवर्तित रूप मे हमारे शरीर को नुकसान करता है जो बहुत समय बाद शरीर पर हानिकारक प्रभाव को छोड़कर बीमार करता है। इनके प्रभाव दोनों दिशा मे हो सकते है। 

- आटा, यहाँ गेहूं के आटा सभी के द्वारा इस्तेमाल मे लिया जाता है जो रोज रोटी के रूप मे हमारी भूख को खत्म करता है। हालाकी हम बहुत से आटे का इस्तेमाल तो करते है जिनका स्वाद अलग - अलग मिलता है लेकिन इन्हे केवल किसी निश्चित समय या त्योहार पर खाते देखा जा सकता है। इनका प्रभाव दोनों दिशा मे प्रत्येक व्यक्ति पर भिन्न रूप मे देखने को मिलता है। 

- दूध, आजकल दूध उत्पादन का रूप बहुत मामलो मे बदल गया क्योकि जानवरो से दूध प्राप्त करने के अलावा कई वनावटी तरीके निकाले जा चूके जो लोगो की हैल्थ को सभी तरह से प्रभावित करती है। कुछ मामलो मे प्रभाव अच्छा तो कुछ मे इन्हे नकारात्मक रूपो मे देखा गया जिससे शरीर पर भिन्न तरह के प्रभाव कुछ समय बाद देखने को मिलते है जो बीमारी के रूप मे सामने आते है। 

प्रत्येक शब्द के उपयोग जाने -

- भोजन, यहाँ मौजूद हर एक इंसान को जीवन बनाए रखने हेतु इसे उपयोग मे लेना होता है जो रोज रोटी ऑर अन्य पदार्थ के रूप लिया जाता है। इसे ऐसे समझ सकते है। यहा मौजूद सभी के लिए उपयोग भिन्न हो सकते है।  

- आटा, यह गेहूं ऑर अन्य तरह की फसलों को लेकर बनते देखा जा सकता है। इसके अनेक उपयोग है जिसके अंदर ले सकते है। इसके जीतने रूप है उतने ही ज्यादा स्वाद होते है सभी के लिए अलग - अलग चीजे अच्छी लगती है। 

- दूध, जानवरो से मिलने बाले सफ़ेद रंग के गुणकारी पदार्थ को इसके अंतर्गत लेकर समझ सकते है। इसके उपयोग अनेकों प्रकार के हो सकते है जिसे उपयोग करने बाले व्यक्ति के ऊपर निर्भर करेगा। इसके कई प्रकार होने के साथ इनके उपयोग प्रत्येक के द्वारा अलग - अलग रूपो मे किया जाता है। जो कई तरह के पकवान के रूप मे देखे जाते है। 

दोस्तो अब तक तो पूरे आर्टिक्ल जो अच्छी तरह समझकर पढ़ लिया होगा जिससे इस शब्द की अनेकों तरह की जानकारी आपको जानने को मिली होगी। यदि काफी फायदा मिला तो हमे पोस्ट के नीचे कमेंट के जरिये जल्दी से बताए ताकि नयी बाते आने बाले आर्टिक्ल के साथ आपको बता सके। 

किसी तरह का विचार या सुझाव भी हमे देना चाहे तो भी सीधे हमे बता सकते है। हमारे साथ जुड़कर ऐसी ही जानकारी लगातार लेते रहे ऑर अपने दोस्तो के साथ इसे शेयर करके उनकी मदद करे। चलिए आगे नए पोस्ट के साथ फिर हाजिर होंगे।   

Post a Comment

0 Comments